पवित्रा पहरे को दिन आयो

पवित्रा पहरे को दिन आयो। केसर कुमकुम रसरंग वागो कुंदन हार बनायो॥१॥ जय जयकार होत वसुधा पर सुर मुनि मंगल गायो। पतित पवित्र किये सुख सागर सूरदास यश गायो॥२॥

@beLikeBrahma

Join Brahma

Learn Sanatan the way it is!