पवित्रा श्री विट्ठलेश पहरावे

पवित्रा श्री विट्ठलेश पहरावे। व्रज नरेश गिरिधरन चंद्र को निरख निरख सचु पावे॥१॥ आसपास युवतिजन ठाडी हरखित मंगल गावे। गोविंद प्रभु पर सकल देवता कुसुमांजलि बरखावे ॥२॥

@beLikeBrahma

Join Brahma

Learn Sanatan the way it is!