राष्ट्रोत्कर्ष दिवस

राष्ट्रोत्कर्ष दिवस

Jagadguru Swami Nischalananda Saraswati ji

0 +
Videos On Youtube
0 +
Books / Granths
0 +
Years Old Shankara Parampara
Rashtrotkarsh Divas

Birthday राष्ट्रोत्कर्ष दिवस ଜନ୍ମଦିନ जन्म दिवस अवतरण दिवस Coming in

7 जुलाई आषाढ़ कृष्ण त्रयोदशी

गुरु जी आप सर्वप्रथम भारत राष्ट्र नियंत्रण करे |

गुरु जी के चरण में दंडवत प्रणाम

गुरु जी के चरण में दंडवत प्रणाम

Veda ke Prakash Ko dikhane wale guru Ko badhai.aapko sanantan Ko jiwan Dene ka bal veg prapta ho.shiv aapko Chiranjeevi kare kare

Veda ke Prakash Ko dikhane wale guru Ko badhai.aapko sanantan Ko jiwan Dene ka bal veg prapta ho.shiv aapko Chiranjeevi kare kare

परिचय

पुरीके वर्तमान 145वें श्रीमद्जगद्गुरु शंकराचार्य अनेक विलक्षणताओंके धनी महान विभूति हैं। इनका बचपनका नाम नीलांबर झा है किंतु अपने गांवमें वह ‘घुरन’के नामसे प्रसिद्ध थे। इनका जन्म विक्रम संवत 2000 आषाढ़ कृष्ण त्रयोदशी उपरांत चतुर्दशी बुधवार रोहिणी नक्षत्र वृष राशि तदनुसार 30 जून 1943 को दरभंगा जिला अब मधुबनी जिला अंतर्गत हरिपुरबक्शी टोल नामक ग्राममें हुआ था। उनके पिताजीका नाम श्री लाल बंसी झा था, जो बचवे झा या बचवे बाबूके नामसे प्रसिद्ध थे। वे दरभंगा नरेशके राज पंडित थे। उनकी माताका नाम गीता देवी था।

बालक नीलांबरका बचपन अनेक विचित्रताओंसे भरा रहा। बचपनमें ही उनको आत्मबोध हुआ। भगवान श्री कृष्णके दर्शन भी हुए और बचपनसे ही उनके मनमें श्री वृंदावनका दर्शन करनेकी इच्छा भी जगी। उनकी प्रारंभिक शिक्षा अपने गांवमें ही हुई किंतु हाई स्कूलकी शिक्षाके लिए वे अपने अग्रज श्री श्रीदेव झाके साथ दिल्ली चले गये।

दिल्लीमें ही धर्म संघके वार्षिक महाधिवेशनके अवसरपर उन्हें धर्म सम्राट स्वामी करपात्री जी महाराजका दर्शन हुआ। उसी समय उन्होंने स्वामी श्री करपात्री जी महाराजको अपने सद्गुरुके रूपमें पहचान लिया। जब वे दसवीं कक्षाके छात्र थे तभी रामलीला मंचनमें भगवान रामके बनवासका प्रसंग सुनकर उनके मनमें वैराग्य उत्पन्न हुआ और वह रातमें बिना किसीको कुछ बताएं पैदल ही बनारसके लिए प्रस्थान कर दिए। कानपुर लखनऊ आदि अनेक स्थानोंपर विभिन्न साधु-संतोंके दर्शन करते हुए एवं अनुभव प्राप्त करते हुए वह नैमिषारण्य पहुंचे। ब्रह्मचर्यकी दीक्षाके समय उनका नाम प्रबुद्धचैतन्य रखा गया जो बादमें धर्मचैतन्य तथा अंतमें ध्रुवचैतन्य हुआ।

7 नवंबर 1966 को दिल्लीमें पार्लियामेंटके समक्ष आयोजित गोरक्षा सम्मेलनमें भाग लेनेके कारण 9 नवंबरको उन्हें बंदी बना लिया गया था और वह 52 दिनों तक तिहाड़ जेलमें बंद रहे थे। नैमिषसे वे पैदल ही यात्रा पर निकले और 8 महीनोंकी कठिन पैदल यात्रा करते हुए रास्तेमें भूख प्याससे जूझते हुए वे श्रृंगेरी मठ पहुंचे। श्रृंगेरी मठमें वे 87 दिनों तक रहे। कपट पूर्वक नैमिषके अधिपति जी द्वारा बुलवानेपर वे पुनः नैमिष पहुंचे जहां उन्हें अनेक प्रकारकी यातनाओंका सामना करना पड़ा। उन्हें विष भी पिलाया गया जिससे वे भगवानकी इच्छा समझते हुए पी लिए। उनकी हालत बिल्कुल खराब हो गई थी। हां दवाके नामपर उन्हें कांचका चूर्ण भी पिलाया गया था। पुरीमें जगन्नाथ भगवानके दर्शन हेतु वह बनारससे पैदल ही जगन्नाथपुरी आए थे। यहाँ कई आश्रमों और मठोंमें वे प्रसाद भोजन एवं निवासके लिए घूमते रहे किंतु कहीं भी इनको उचित व्यवस्था नहीं मिल सकी थी।

पुरीमठके 144वें शंकराचार्य भगवानकी सेवामें यह कई बार रह चुके थे। किंतु इनके पुरी आनेपर उस पूर्व परिचयका कोई प्रभाव नहीं दिखा। वैशाख कृष्ण एकादशी गुरुवार संवत 2073 तदनुसार 18 अप्रैल 1974 को पूज्यपाद् धर्मसम्राट स्वामी करपात्री जी महाराजके करकमलोंसे इन्होंने सन्यास ग्रहण किया। उन्होंने आपका नाम निश्चलानंद सरस्वती रखा।

सन् 1976 से 1981 तक आपने पूज्य स्वामी करपात्री जी महाराजसे प्रस्थानत्रयी, पंचदशी, वेदांत परिभाषा, न्यायमीमांसा तंत्र आदिका मनोयोगपूर्वक अध्ययन किया। सन् 1982 से 1987 तक आपने तत्कालीन पुरीपीठके शंकराचार्य स्वामी निरंजन देव तीर्थ जी महाराजसे खंडनखंड और यजुर्वेदादिका विशेष अध्ययन किया। आपने पांच चतुर्मास उनके साथ बिताया था।

श्रीमद्जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी निरंजन देव तीर्थ जी महाभागने आपको पुरीपीठके शंकराचार्यपदपर पदस्थापित करनेका निश्चय कर लिया था। आपकी प्रतिभा, कुशाग्र बुद्धि एवं सनातन धर्मके प्रति आपकी श्रद्धा एवं गुरुजनोंमें निरंतर आस्थाको देखते हुए उन्होंने आपको सन् 1992 में महाशिवरात्रिके अवसरपर पुरीके 145वें मान्य श्रीमद्जगद्गुरु शंकराचार्यके रूपमें पदास्थापित किया।

छायाचित्र

Written by Shankaracharya Ji

प्रसिद्ध प्रवचन

May 27, 2017
Puri Shankracharaya at IIT BHU
May 27, 2017
Jun 8, 2017
ISRO Pravachan
Jun 8, 2017
14 Oct 2017
JNU Pravachan
14 Oct 2017
Mar 7, 2018
Indian Law Institute
Supreme Court of India, Delhi
Mar 7, 2018
Feb 17, 2018
Pravachan at IIT Patna, Bihta Campus
Feb 17, 2018
Sep 15, 2017
Puri Shankracharaya at IIT Kanpur
Sep 15, 2017
Dec 27, 2019
अन्तःराष्ट्रीय वैदिक गणित सम्मलेन, दिल्ली
Dec 27, 2019
Feb 14, 2019
Puri Shankaracharya ji with Baba Raamdev Ji
Feb 14, 2019
Samundra Aarti @ Puri

प्रसिद्ध वीडियो प्लेलिस्ट

शुभ कामनाएं

गुरु जी आप सर्वप्रथम भारत राष्ट्र नियंत्रण करे |

गुरु जी के चरण में दंडवत प्रणाम

गुरु जी के चरण में दंडवत प्रणाम

Veda ke Prakash Ko dikhane wale guru Ko badhai.aapko sanantan Ko jiwan Dene ka bal veg prapta ho.shiv aapko Chiranjeevi kare kare

Veda ke Prakash Ko dikhane wale guru Ko badhai.aapko sanantan Ko jiwan Dene ka bal veg prapta ho.shiv aapko Chiranjeevi kare kare

AAPKE pragyat Diwas KI bahut bahut SHUBH KAMNAYAIN. Aap KA ASHIRVAD AUR GYAN GANGA KA PRASAD MILTA Rahe YAHI KAMNA. HAI. 💐💐💐🙏🙏🙏🚩🚩🚩

आपका दर्शन प्रत्यक्ष करने की मुझे भाग्य ने अनुमति नहीं दी। परन्तु आप हर हिन्दू और विश्व के लिए परमपूज्य हैं गुरुदेव। आपके चरणों में कोटि कोटि प्रणाम जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी। सीताराम सीताराम सीताराम।

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

🙏🙏🙏🙏

🙏🙏🙏🙏

प्रणाम आचार्य जी 🙏🙏🙏🚩🚩 सादर नमस्कार 🙏🙏 धर्म की जय हो। अधर्म का नाश हो। प्राणियों में सद्भावना हो। विश्व का कल्याण हो। गौमाता की जय हो। गौहत्या बंध हो। भारत अखंड हो।

जयदीप सोनी Tweet

Jagadguru Shankaracharya ji ke charano mein Koti koti Vandan. Avataran diwas pr shubhkamnae

महाराज श्री के चरणों में कोटिसः प्रणाम।🙏

मै भगवान् से ये प्रार्थना करता को भगवान् उन्हें लंबी उम्र और शक्ति दे ताकी वो अपने ज्ञान से पूरे भारतवर्ष को प्रकाशित करते रहे। जगत गुरु को मेरा कोटि कोटि प्रणाम ।

Koti koti Dandwat Parnaam अवतरण दिवस की हार्दिक बधाई नमो नारायण

*🌹।।राष्ट्रोत्कर्ष दिवस।।*🌹 *🌹🌹गोवर्धनमठ पुरी पीठाधीश अनन्तश्री विभूषित श्रीमद्जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती जी महाराज के ७९वें प्राकट्य दिवस पर सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं🌹🌹* परम पूज्य गुरुदेव के श्रीचरणों में कोटिश वंदन 🌹

शिशु पाल भनोत Tweet

*🌹।।राष्ट्रोत्कर्ष दिवस।।*🌹 *🌹🌹गोवर्धनमठ पुरी पीठाधीश अनन्तश्री विभूषित श्रीमद्जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती जी महाराज के ७९वें प्राकट्य दिवस पर सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं🌹🌹* परम पूज्य गुरुदेव के श्रीचरणों में कोटिश वंदन 🌹

शिशु पाल भनोत Tweet

हार्दिक बधाई

अखिलेश खंडेलवाल Tweet

गुरु देव भारत के एक अनमोल रत्न है और मैं क्या बोल सकता हूं मैं तो दास हूं उनका गुरुदेव को जन्म उत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं

पद्मनाभ झा Tweet

गुरु देव भारत के एक अनमोल रत्न है और मैं क्या बोल सकता हूं मैं तो दास हूं उनका गुरुदेव को जन्म उत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं

पद्मनाभ झा Tweet

Namaste Vanakkam Sat Srī Akāl Namaskārām Khurumjari Parnām Tashi Delek Khurumjari 

Join The Change
Resend OTP (00:30)
OR

Search