मूर्खस्य पञ्च चिह्नानि गर्वो दुर्वचनं तथा।
क्रोधश्च दृढवादश्च परवाक्येष्वनादरः।।

mūrkhasya pañca cihnāni garvo durvacanaṃ tathā|
krodhaśca dṛḍhavādaśca paravākyeṣvanādaraḥ||

एक मुर्ख के पांच लक्षण होते है घमण्ड, दुष्ट वार्तालाप, क्रोध, जिद्दी तर्क और अन्य लोगों के लिए सम्मान में कमी।

Five signs of a fool are pride, wicked fellowship, anger, stubborn logic, and a lack of respect for others.

मूर्खों के पाँच लक्षण हैं - गर्व, अपशब्द, क्रोध, हठ और दूसरों की बातों का अनादर॥

ஒரு முட்டாளின் ஐந்து அறிகுறிகள் பெருமை, பொல்லாத கூட்டுறவு, கோபம், பிடிவாதமான தர்க்கம், மற்றவர்களுக்கு மரியாதை இல்லாதது.

Share this Shlok
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

Trending Shloka

Latest Shloka in our Sangrah

A futuristic Library of Bhartiye Wisdom.

Brahma is building the biggest open-source collection of eternal Bhartiye Gyan in all forms. If you are enlightened do join our team of change-makers.

मूर्खस्य पञ्च चिह्नानि गर्वो दुर्वचनं तथा।
क्रोधश्च दृढवादश्च परवाक्येष्वनादरः।।

mūrkhasya pañca cihnāni garvo durvacanaṃ tathā|
krodhaśca dṛḍhavādaśca paravākyeṣvanādaraḥ||

एक मुर्ख के पांच लक्षण होते है घमण्ड, दुष्ट वार्तालाप, क्रोध, जिद्दी तर्क और अन्य लोगों के लिए सम्मान में कमी।
Five signs of a fool are pride, wicked fellowship, anger, stubborn logic, and a lack of respect for others.
मूर्खों के पाँच लक्षण हैं - गर्व, अपशब्द, क्रोध, हठ और दूसरों की बातों का अनादर॥
ஒரு முட்டாளின் ஐந்து அறிகுறிகள் பெருமை, பொல்லாத கூட்டுறவு, கோபம், பிடிவாதமான தர்க்கம், மற்றவர்களுக்கு மரியாதை இல்லாதது.

@beLikeBrahma