सर्वस्वरूपे सर्वेशे सर्वशक्तिसमन्विते ।
भयेभ्यस्त्राहि नो देवि दुर्गे देवि नमोऽस्तु ते ॥

sarvasvarūpe sarveśe sarvaśaktisamanvite |
bhayebhyastrāhi no devi durge devi namo’stu te ||

0
0

सभी स्वरूपों में माता ही हैं, सभी की ईश्वरी मां हैं, तथा सब प्रकार की शक्तियां उनमें ही समन्वय पाती हैं, ऐसी सर्वशक्ति सम्पन्न दिव्यरूपा माता, हे मां दुर्गा देवी ! सब भयों से हमारी रक्षा करिए , सभी आपदाएं दूर करिए। आपको नमस्कार है ।

Share this Shlok
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on telegram

Trending Shloka

Latest Shloka in our Sangrah