...
Background

kaba tuma moso patita udharo

0
0

Change Bhasha

कब तुम मोसो पतित उधारो। पतितनि में विख्यात पतित हौं पावन नाम तिहारो॥ बड़े पतित पासंगहु नाहीं, अजमिल कौन बिचारो। भाजै नरक नाम सुनि मेरो, जमनि दियो हठि तारो॥ छुद्र पतित तुम तारि रमापति, जिय जु करौ जनि गारो। सूर, पतित कों ठौर कहूं नहिं, है हरि नाम सहारो॥

Buy Latest Products

Built in Kashi for the World

ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः