...
Background

paga ghunghru bandh meera nachi re

0
0

Change Bhasha

पग घूँघरू बाँध मीरा नाची रे।

मैं तो मेरे नारायण की आपहि हो गई दासी रे।

लोग कहै मीरा भई बावरी न्यात कहै कुलनासी रे॥

विष का प्याला राणाजी भेज्या पीवत मीरा हाँसी रे।

‘मीरा’ के प्रभु गिरिधर नागर सहज मिले अविनासी रे॥

Buy Latest Products

Built in Kashi for the World

ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः