...
Background

vrmdavana eka palaka jo rahiye

0
0

Change Bhasha

वृंदावन एक पलक जो रहिये। जन्म जन्म के पाप कटत हे कृष्ण कृष्ण मुख कहिये ॥१॥ महाप्रसाद और जल यमुना को तनक तनक भर लइये। सूरदास वैकुंठ मधुपुरी भाग्य बिना कहां पइये ॥२॥

Buy Latest Products

Built in Kashi for the World

ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः